☚ लेसन के लिए यहाँ क्लिक करे ।

LESSON 14



समय का पालन


318 words



01 समय पर काम करने को ही समय का पालन अथवा समय की पाबंदी कहते है |

02 दस बजे उपस्थित होने का वादा कर साढ़े दस बजे पहुचना किसी सज्जन का परिचय नहीं है, बल्कि इससे पहुचने वाले की भविष्य में हनी और दुसरे व्यक्ति को परेशानी होती है |

02 जो व्यक्ति काम पर सही वक्त पर नहीं पहुचता है उस पर भरोसा नही किया जा सकता है, क्योंकि वह समयनिष्ठ व्यक्ति नहीं है |

03 जो समय का मूल्य समझते है, वाही सच्चा सज्जन है और उसके चरित्र व दक्षता पर सबको भरोसा होता है |

04 जीवन के सभी क्षेत्रों में समय का पालन महत्वपूर्ण है| लोग कहते है की समय का पालन- राजमुकुट है |

05 किसी मनुष्य के चरित्र में यह सर्वोत्तम कीमती रत्न है |

06 स्कूल या कॉलेज के विद्यार्थी को समयनिष्ठ होना चाहिए |

07 दफ्तर में चाहे एक लिपिक हो या बड़े फार्म का प्रबंधक, उन्हें समय का पालन करना चाहिए |

08 इसी प्रकार एक श्रमिक, राजनीतिक या नेता को भी समय का पालन करना जरुरी है|

09 एक समय का पालन नहीं करने वाला व्यक्ति सर्वदा परेशान रहता है |

10 विलम्ब से वर्ग पहुचने वाला विद्यार्थी अपने वर्ग में सबसे पीछे रहता है |

11 वह अपने लिए तथा अपने-अपने वर्ग में दुसरे साथियों के लिए अव्यवस्था उत्पन्न करना है |

12 उसे एक बाधा के रूप में उसके अध्यापक तथा वर्ग के साथी मानते है |

13 समय का पालन न होने के कारण युद्ध में अनेक को पराजय का मुह देखना पड़ा है |

14 न्यायाल्य में अनेक मुकदमे हार गए है, चूँकि लोग समय पर उपस्थित नहीं हुए |

15 समय का पालन नहीं होने पर लोग ट्रेनों पर सवार होने से वंचित हुए और हानि सहे |

16 अतः समय का पालन न होने का परिणाम भयंकर होता है स्वाधीन या स्वतंत्र राष्ट्र के लोग समय का पालन का महत्व जानते है |

17 भारतियों को समय का पालन ला पाठ सीखना चाहिए |

18 समयानुवार्तिता न होना एक अन्याय है |

19 यह बेईमानी, पाप, भ्रष्टाचार, मिथ्याचार तथा कर्तव्य के प्रति अवहेलना को जन्म देती है|